Happy Saraswati Puja Wishes, Vasant Panchami Quotes -[saraswati image]

Saraswati Puja is the worship of the Goddess of Education, Voice, Music, and Wisdom, is also called vasant panchami.here you find Saraswati Images for wishes

Saraswati image, Photo, Quotes, Greetings

सरस्वती – कला की देवी और ज्ञान का प्रतीक है। वह चेतना की नदी है जो सृष्टि का निर्माण करती है; उसके बिना केवल अव्यवस्था और भ्रम है।

वह भोर की देवी है जिसकी किरणें अज्ञानता के अंधकार को दूर करती हैं। उसे महसूस करने के लिए आत्मा की शांति में आनंदित होना चाहिए।

वह प्रकृति में शुद्ध और उदात्त है। शुद्ध बुद्धि के संरक्षक के रूप में मन की शक्तियों में आनन्द का संचार करता है।

चार वेद, सार्वभौमिक ज्ञान की पुस्तकें, उनकी प्रतीक है। उसका वाहन हंस, है। सफेद हंस शुद्ध ज्ञान को दर्शाता है।

पुस्तकालय और स्कूल उसके मंदिर हैं; कलम, किताबें, कलाकार और संगीत वाद्ययंत्र के सभी उपकरण ज्ञान की देवी की पूजा में उपयोग की जाने वाली वस्तुएं हैं ।

happy saraswati puja | saraswati images

saraswati image
saraswati image

या कुन्देन्दुतुषारहारधवला या शुभ्रवस्त्रावृता,
या वीणावरदण्डमण्डितकरा या श्वेतपद्मासना।
या ब्रह्माच्युत शंकरप्रभृतिभि र्देवैः सदा वन्दिता,
सा मां पातु सरस्वती भगवती निःशेषजाड्यापहा॥

saraswati images | saraswati puja 2020

saraswati photo
saraswati photo

जीवन का यह बसंत
खुशियाँ दे अनंत
प्रेम और उत्साह का
भर दे जीवन में रंग !

saraswati photo | saraswati wallpaper

saraswati images
saraswati images

May the respected occasion of Vasant Panchami
Bring fortune, wealth of knowledge to you,
and all your wishes come true.



saraswathi devi images

saraswati puja 2020
saraswati puja 2020

सहस शील हृदय में भर दे
जीवन त्याग से भर दे
संयम सत्य स्नेह का वर दे
माँ सरस्वती आपके जीवन में उल्लास भर दे
बसंत पंचमी की हार्दिक शुभकामनाएं

Saraswati Vandana in Hindi || माँ सरस्वती वंदना मंत्र

या कुन्देन्दुतुषारहारधवला या शुभ्रवस्त्रावृता,
या वीणावरदण्डमण्डितकरा या श्वेतपद्मासना।
या ब्रह्माच्युत शंकरप्रभृतिभि र्देवैः सदा वन्दिता,
सा मां पातु सरस्वती भगवती निःशेषजाड्यापहा॥१॥

शुक्लां ब्रह्मविचार सार परमामाद्यां जगद्व्यापिनीं,
वीणा-पुस्तक-धारिणीमभयदां जाड्यान्धकारापहाम्‌।
हस्ते स्फटिकमालिकां विदधतीं पद्मासने संस्थिताम्‌,
वन्दे तां परमेश्वरीं भगवतीं बुद्धिप्रदां शारदाम्‌॥२॥

भावार्थ:

जो विद्या की देवी भगवती सरस्वती कुन्द के फूल, चंद्रमा, हिमराशि और मोती के हार की तरह धवल वर्ण की हैं और जो श्वेत वस्त्र धारण करती हैं, जिनके हाथ में वीणा-दण्ड शोभायमान है, जिन्होंने श्वेत कमलों पर आसन ग्रहण किया है तथा ब्रह्मा, विष्णु एवं शंकर आदि देवताओं द्वारा जो सदा पूजित हैं, वही संपूर्ण जड़ता और अज्ञान को दूर कर देने वाली मां सरस्वती हमारी रक्षा करें।

शुक्लवर्ण वाली, सम्पूर्ण चराचर जगत्‌ में व्याप्त, आदिशक्ति, परब्रह्म के विषय में किए गए विचार एवं चिन्तन के सार रूप परम उत्कर्ष को धारण करने वाली, सभी भयों से भयदान देने वाली, अज्ञान के अँधेरे को मिटाने वाली, हाथों में वीणा, पुस्तक और स्फटिक की माला धारण करने वाली और पद्मासन पर विराजमान्‌ बुद्धि प्रदान करने वाली, सर्वोच्च ऐश्वर्य से अलङ्कृत, भगवती शारदा की मैं वंदना करता हूँ।

Saraswati Puja Wishes in Hindi | saraswati photo

happy saraswati puja
happy saraswati puja

वीणा लेकर हाथ में, सरस्वती हो आपके साथ में
 मिले मां का आशीर्वाद आपको, हर दिन, हर वार
 हो मुबारक आपको बसंत पंचमी का त्यौहार
 बसंत पंचमी की शुभकामनाएं



Leave a Reply